Thappad se darr lagta hai sahab

थप्पड़ से डर लगता है और प्यार से भी मैँ आम आदमी हूँ साहब मुझे आम के दाम से भी डर लगता है भगवान् को मानता हूँ पर अँधेरे में जाने से घबराता हूँ मैँ आम आदमी हूँ साहब डर के पूजा पाठ करता हूँ भूत क्या बला है में तो इंसान से भी डरता […]

Aye ashq… mein tumhen laaun kahan se…

Video based on a poem I’ve written about a girl who’s lost the love of her life a long time back. It’s been long time and she is done crying for him… or she thinks does… Beautifully voiced by the famous Rj Adaa herself.. Enjoy Thank you for watching.

Beyond Border A BLOGADDA Initiation

Gulzar Saheb say: Aankhon ko visa nahi lagtaa Sapno ki sarhad hoti nahin Band aankhon se roz main sarhad paar chalaa jaata hun milne ‘Mehadi Hasan’ se! This is now what we are living in today’s world, literally. Thanks to the technology. If I want to talk to my friend across the border, I just have […]

पतझर

जब जब पतझर में पेड़ों से पीले पीले पत्ते, मेरे lawn में आ कर गिरते हैं, रात को छत पर जा कर में आकाश को ताकता रहता हूँ लगता है कमजोर सा पिला चाँद भी शायद पेपाल के सूखे पत्ते सा, लहराता लहराता मेरे lawn में आ कर उतरेगा _____ Gulzar